अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न


उ. घी गाय या भैंस के दूध से प्राप्त होता है। घी प्राप्त करने के लिए मक्खन पिघलया जाता है और लगभग 105 डिग्री सेंटीग्रेड पर वसा निकाला जाता है। अवशेष और वसा अलग हो जाते है। फिर घी विशाल सिलो में संग्रहित होती है और फिर 45 डिग्री सेंटीग्रेड पर पैक की जाती है।
उ. रीचर्ट मीस्ल वैल्यू नामक वैज्ञानिक ने इस परीक्षण की शुरुआत की। उन्होंने आविष्कार किया कि अस्थिर फैटी एसिड की सीमा 26-30 के बीच होनी चाहिए। इसलिए तेल या वसा में धोखाधड़ी मिश्रण को निर्धारित करने के लिए इस परीक्षण द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। यदि इस परीक्षण का मूल्य 26 से कम है, तो यह घी में मिलावट को इंगित करता है।

उ. तरल रूप में घी तापमान में परिवर्तन के कारण हो सकता है। घी को 20-25 डिग्री सेंटीग्रेड के कमरे के तापमान में रखा जाना चाहिए, तापमान 25 डिग्री सेंटीग्रेड से बढ़ने पर घी पिघलने लगता हैं।

उ. कभी-कभी काले अवसादों होते हैं जो घी में मौजूद होते हैं। ये दूध के एसएनएफ कण होते हैं जो घी में मौजूद होते हैं। घी पिघलने के दौरान ये कण कंटेनर के तल पर चिपकते हैं और अगर सही ढंग से नहीं मिलता है तो यह घी में दिखाई देता है।

उ. घी लेने के लिए हमेशा साफ चम्मच का प्रयोग करें। एक बार इस्तेमाल होने पर हमेशा कंटेनर को ढ्क कर रखें। घी को पानी या आर्द्रता से बचाने की कोशिश करें।

उ. घी के कंटेनर को खोले जाने के बाद साफ और सूखे वायुरोधी बर्तन में रखें। सीधे धूप से घी को दूर रखें। ठंडा करने या घी गरम करने पर न रखें क्योंकि इससे हवा में प्रदूषित कणों के कारण सुगंध भी गायब हो जाती है।

उ. इसका कारण यह है कि घी बनाने के लिए उपयोग की जाने वाली विधि, एसएनएफ जिसमें लैक्टोज और प्रोटीन होता है, को बर्तन की सतह पर रखा जा सकता है और घी से अलग किया जा सकता है। इसलिए घी लैक्टोज और प्रोटीन मुक्त हो सकता है लेकिन मक्खन नहीं हो सकता है।

उ. यदि घी में पामोलिन की गंध है, तो यह तथ्य इस तथ्य के कारण हो सकता है कि घी अशुद्ध है। आपको इसे पहले चेक करना चाहिए।

उ. आप पैकेज पर लिखे गए भौतिक विवरण, पैकेज के डिजाइन, फ़ॉन्ट आकार, आपूर्तिकर्ता ट्रेडमार्क साइन, पैकिंग आकार, रंग, संख्या, होलोग्राम, आईएसओ चिह्न और एफएसएसएआई प्रमाणीकरण जैसे निम्नलिखित विवरणों के आधार पर अंतर कर सकते हैं। यदि आप अपने क्षेत्र में कहीं भी डुप्लिकेट पैक देखते हैं, तो कृपया हमें सूचित करें ताकि अपराधी को दंडित किया जा सके।

उ. फीफो का पालन करना महत्वपूर्ण है क्योंकि घी का विशिष्ट शेल्फ जीवन है। तो पहले निर्मित घी पहले बाजार में भेजा जानी चाहिए।

उ. घी विभिन्न चिकित्सा और स्वास्थ्य कारकों के लिए एक महान स्रोत है।

आयुर्वेदिक दवा के अनुसार, घी को चमकती त्वचा और स्वस्थ दिमाग के लिए फायदेमंद माना जाता है। स्ट्रीट फूड और सामान्य मिठाई की दुकानें आम तौर पर घी के बजाय मिठाई के लिए वनस्पति का उपयोग करती हैं। वनस्पति का उपयोग दुकानों में अधिक है क्योंकि घी की तुलना में यह वास्तव में सस्ता है लेकिन इसमें ट्रांस फैटी एसिड (टीएफए) है जो मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इस लिये हमेशा वनस्पति के बजाय शुद्ध घी उपयोग लिए जाएं।

उ. कड़वाहट की जांच करें, अगर यह स्वाद मे मीठा है तो केसर डुप्लिकेट हो सकता है। केसर लाल रंग का होता है और इसमें फूल की तरह सुगंध होती है। ठंडे पानी में केसर के कुछ धागे रखें, अगर थ्रेड जल्दी टूट जाए तो केसर डुप्लिकेट हो सकता है।

पूछताछ प्रपत्र